WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024: राजस्थान आईटीआई वाइस प्रिंसिपल सिलेबस और एग्जाम पैटर्न यहां से करें डाउनलोड

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024: राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) द्वारा राजस्थान वाइस प्रिंसिपल सुपरिटेंडेंट आईटीआई सिलेबस जारी कर दिया गया है। आरपीएससी वाइस प्रिंसिपल भर्ती के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार पब्लिक सर्विस कमिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर RPSC Vice Principal Syllabus PDF Download कर सकते हैं।

आरपीएससी सुपरिटेंडेंट आईटीआई सिलेबस एग्जाम पैटर्न के अंतर्गत अभ्यर्थियों का सलेक्शन लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के माध्यम से किया जाएगा। आरपीएससी आईटीआई वाइस प्रिंसिपल के लिए 150 अंकों की लिखित परीक्षा और 15 अंकों का इन्टरव्यू आयोजित किया जाएगा।

RPSC Vice Principal Exam 2024 में गलत उत्तर करने पर 1/3 अंकों का नकारात्मक अंकन किया जाएगा। इस बार परीक्षा में पांचवां (E) विकल्प जोड़ गया है, यह विकल्प प्रश्न खाली छोड़ने के लिए भरा जाना अनिवार्य है, यदि आप 10% से अधिक प्रश्न खाली छोड़ते हैं तो ऐसे में आपको परीक्षा से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

RPSC ITI Vice Principal Syllabus
RPSC ITI Vice Principal Syllabus

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024 Highlight

Exam OrganizationRajasthan Public Service Commission (RPSC)
Name Of ExamVice Principal /Superintendent ITI
Mode Of ExamOffline/Offline
Vice Principal Exam DateComing Soon
No. Of Questions150
No. Of Marks150
Negative Marking0.33
CategoryRPSC ITI Vice Principal Syllabus

RPSC ITI Vice Principal Syllabus & Exam Pattern 2024

सरकारी रोजगार की तैयार करने वाले वह अभ्यर्थी जिन्होंने राजस्थान ITI Vice Principal Exam 2024 के लिए आवेदन किया है, उन्हें इस कॉम्पिटिशन एग्जाम की प्रिपरेशन आयोग द्वारा जारी सिलेबस के आधार पर करनी चाहिए। प्रतियोगिता परीक्षा की कम समय में बेहतर तैयारी करके परीक्षा में अच्छा स्कोर बनाने के लिए सिलेबस को समझना अनिवार्य है।

आप वाइस प्रिंसिपल सिलेबस और एग्जाम पैटर्न 2024 को समझने के लिए RPSC ITI Vice Principal Previous Year Paper अथवा आरपीएससी प्रीवियस ईयर पेपर हल कर सकते हैं। जितने ज्यादा आरपीएससी ओल्ड क्वेश्चन पेपर आप हल करेंगे, आपको अति महत्वपूर्ण टॉपिक अपने आप समझ आने लगे जाएंगे।

प्रत्येक आरपीएससी एग्जाम में कुछ विषयों के ऐसे टॉपिक होते हैं जो किसी ना किसी तरह प्रत्येक पेपर में रिपीट होते हैं। इसके बाद आईटीआई वाइस प्रिंसिपल सिलेबस को समझना आपके लिए बहुत आसान हो जाएगा। आप अध्ययन के साथ साथ महत्त्वपूर्ण टॉपिक के नोट्स बना सकते हैं और समय समय पर नोट्स का रिवीजन कर सकते हैं। RPSC Vice Principal Syllabus PDF Download 202024 का सीधा लिंक नीचे दिया गया है।

RPSC ITI Vice Principal Exam Pattern 2024

राजस्थान आईटीआई वाइस प्रिंसिपल एग्जाम 2024 के लिए एक पेपर का आयोजन किया जाएगा, जिसका परीक्षा पैटर्न निम्नानुसार है।

  • Mode Of Exam: आरपीएससी वाइस प्रिंसिपल एग्जाम ऑफलाइन या फिर ऑनलाइन मोड में आयोजित किया जा सकता है।
  • Exam Duration: पेपर करने के लिए 2 घण्टे 30 मिनट की समय अवधि निर्धारित की गई है। वहीं 5वाँ (E) विकल्प भरने के लिए न्यूनतम 10 मिनट से 30 मिनट तक का अतिरिक्त समय दिया जा सकता है।
  • Negative Marking: गलत उत्तर करने और कोई भी प्रश्न खाली छोड़ने की स्थिति में 0.33 अंकों की माइनस मार्किंग की जाएगी। यदि किसी प्रश्न का उत्तर आपको नहीं आता है तो उस प्रश्न को खाली छोड़ने के लिए 5वाँ (E) विकल्प भरना अनिवार्य है। 10% से अधिक प्रश्न बिना कोई विकल्प भरे छोड़ने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा से अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।
  • No. Of Questions: लिखित परीक्षा 150 प्रश्न की होगी।
  • No. Of Marks: पेपर 150 अंकों का होगा, 1 प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित किया गया है।
  • Exam Subjects: आईटीआई वाइस प्रिंसिपल एग्जाम में सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, सूचना प्रौद्योगिकी, कंप्यूटर विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार सम्बन्धित विषय शामिल किए गए हैं।
  • Vice Principal Interview: इस भर्ती परीक्षा के पश्चात योग्य उम्मीदवारों के लिए 15 अंकों का इंटरव्यू कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024 PDF

आरपीएससी आईटीआई वाइस प्रिंसिपल सिलेबस 2024 के लिए सभी विषयों की टॉपिक अनुसार विस्तृत जानकारी की जानकारी यहां देख सकते हैं साथ ही इस आर्टिकल में दिए गए सीधे लिंक से आप Rajasthan ITI Vice Principal Syllabus 2024 PDF Download भी कर सकते हैं।

Civil Engineering

1 Engineering Materials & Construction Technology 

  • विभिन्न प्रकार की इमारतों के निर्माण के लिए साइट का चयन।
  • नींव के लिए आवश्यकताएँ और डिजाइन मानदंड – दीवारों, चिनाई, फर्श, सीढ़ियों, मेहराबों, छतों, दरवाजों और खिड़कियों के निर्माण का विवरण।
  • अग्नि सुरक्षा, वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग और ध्वनिकी के लिए आवश्यकताएँ।
  • जल आपूर्ति और जल निकासी।
  • निर्माण सामग्री – पत्थर, ईंटें, सीमेंट, चूना, पेंट और लकड़ी।

2 Surveying

  • हैन और कम्पास सर्वेक्षण
  • समतलीकरण
  • अस्थायी और स्थायी समायोजन
  • स्तर उपकरण और थियोडोलाइट
  • थियोडोलाइट, टैकोमेट्री, त्रिभुज
  • ट्रैवर्सिंग का उपयोग
  • समोच्च और समोच्च सरल, परिपत्र
  • मिश्रित और संक्रमण वक्र और उनकी सेटिंग आउट त्रुटियों और सर्वेक्षण समायोजन का सिद्धांत
  • ईडीएम सर्वेक्षण
  • फोटोग्रामेट्री और रिमोट सेंसिंग की मूल बातें इत्यादि।

3 Geotechnical Engineering

  • आई.एस. कोड के अनुसार मिट्टी का वर्गीकरण
  • मिट्टी के लिए क्षेत्र पहचान परीक्षण –
  • पानी सामग्री, विशिष्ट गुरुत्व
  • शून्य अनुपात, छिद्रण, संतृप्ति की डिग्री, इकाई भार
  • घनत्व सूचकांक और उनके अंतर-संबंध
  • मिट्टी के विभिन्न गुणों का निर्धारण
  • अनाज आकार वितरण
  • एटरबर्ग/संगति सीमाएँ इत्यादि।
  • मृदा पारगम्यता और प्रयोगशाला क्षेत्र में इसका निर्धारण
  • डार्सी का नियम
  • प्रवाह जाल-इसका निर्माण और उपयोग
  • मृदा का संघनन और समेकन तथा गुणवत्ता नियंत्रण मृदा स्थिरीकरण विधियाँ
  • न्यू मार्क का चार्ट और इसके उपयोग
  • कतरनी के तत्व
  • शक्ति मापदंड और उनका निर्धारण
  • उथली नींव की वहन क्षमता
  • रिटेनिंग दीवार पर मिट्टी का दबाव
  • ढलानों की स्थिरता
  • ढेर नींव इत्यादि।

4 Structural Mechanics

  • तनाव और विकृति
  • लोचदार स्थिरांक
  • सुरक्षा कारक
  • लोचदार स्थिरांक के बीच संबंध
  • स्थिर भार के अधीन कैंटिलीवर
  • सरल समर्थित
  • ओवरहैंगिंग
  • स्थिर और निरंतर बीम के लिए झुकने वाले क्षण
  • कतरनी बल आरेख केंद्रित
  • समान रूप से, वितरित और समान रूप से भिन्न भार सरल झुकने का सिद्धांत
  • कैंटिलीवर
  • सरल समर्थित स्थिर और निरंतर बीम का विक्षेपण
  • दो और तीन टिका हुआ मेहराब इत्यादि।

5 Steel Structures 

  • साधारण और प्लेट गर्डर बीम का डिजाइन
  • छत के ट्रस के सदस्यों का डिजाइन
  • रिवेटेड और वेल्डेड जोड़
  • अक्षीय और विलक्षण रूप से लोड किए गए कॉलम ग्रिलेज, गसेटेड और स्लैब बेस फाउंडेशन
  • IS:800 और IS:875 के प्रावधान इत्यादि

6 Reinforced Concrete Structures

  • नवीनतम IS:456 के प्रावधान
  • एकल और दोहरे रूप से प्रबलित बीम का डिज़ाइन कतरनी सुदृढीकरण का डिज़ाइन
  • दो दिशाओं में फैले हुए –
  • बस समर्थित स्लैब का डिजाइन
  • टी-बीम स्लैब
  • फ्लैट स्लैब
  • अक्षीय और विलक्षण रूप से लोड किए गए स्तंभों का डिजाइन
  • पृथक और संयुक्त स्तंभ फ़ुटिंग का डिजाइन
  • सरल RCC कैंटिलीवर और रिटेनिंग दीवारों का डिजाइन
  • ओवरहेड और भूमिगत पानी की टंकियों में सुदृढीकरण
  • सीमा राज्य विधि के लिए डिजाइन
  • प्री-स्ट्रेस्ड कंक्रीट इत्यादि।

7 Fluid Mechanics and Water Resources Engineering

  • यांत्रिकी और जल संसाधन इंजीनियरिंग
  • एक बिंदु पर हाइड्रोलिक दबाव और उसका माप
  • उछाल, तैरते हुए निकायों के संतुलन की स्थिति
  • द्रव गुण द्रव प्रवाह की स्थिति
  • बर्नौली का प्रमेय
  • नेवियर-स्टोक्स समीकरण
  • छिद्रों, नॉच और वियर के माध्यम से प्रवाह
  • पाइपों के माध्यम से लैमिनार और अशांत प्रवाह
  • खुले चैनलों के माध्यम से प्रवाह
  • हाइड्रोलिक जंप
  • हाइड्रोलिक टर्बाइन और पंप
  • हाइड्रोग्राफ विश्लेषण, सार (अवरोधन, घुसपैठ, वाष्पीकरण और वाष्पोत्सर्जन)
  • बाढ़ / सूखा, आवृत्ति विश्लेषण, भूजल जल विज्ञान जलाशय और बांध
  • अतिप्रवाह संरचनाएं
  • सिंचाई नहरें
  • भूजल और कुओं से सिंचाई
  • जल-जमाव

8 Environmental Engineering

  • शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए प्रति व्यक्ति पानी की आवश्यकता
  • जनसंख्या का पूर्वानुमान
  • स्रोत, सार्वजनिक जल आपूर्ति के लिए जल गुणवत्ता मानक
  • शुद्धिकरण के विभिन्न तरीके
  • सभी सहायक उपकरणों के साथ वितरण नेटवर्क
  • जल निकासी की प्रणालियाँ
  • सीवरेज प्रणालियों का लेआउट
  • सीवरों की फ्लशिंग
  • सीवेज उपचार
  • ग्रामीण स्वच्छता
  • पर्यावरण प्रबंधन पहलू
  • वायु प्रदूषण इत्यादि

9 Highway and Bridges

  • राजमार्ग नियोजन के सिद्धांत
  • सड़कों का वर्गीकरण
  • संरेखण, ज्यामितीय डिजाइन
  • यातायात इंजीनियरिंग
  • लचीले और कठोर फुटपाथों के लिए फुटपाथ डिजाइन
  • फर्श सामग्री और राजमार्ग निर्माण
  • विभिन्न प्रकार की सड़कों का रखरखाव
  • राजमार्ग जल निकासी और आर्बरकल्चर
  • पुलों के प्रकार
  • पुल के प्रकार का चुनाव
  • स्पैन, कॉजवे और कलवर्ट को ठीक करने के आर्थिक विचार इत्यादि

10. Construction Planning & Management

  • निर्माण प्रबंधन के कार्य
  • निर्माण परियोजना के विभिन्न पहलू
  • योजना एवं परियोजना समय निर्धारण और नियंत्रण
  • सीपीएम और पीईआरटी
  • परियोजना लागत नियंत्रण इत्यादि

ELECTRICAL ENGINEERING

  • घूर्णन मशीनों में ईएमएफ
  • टॉर्क का उत्पादन
  • डी.सी. मोटर और जनरेटर और उनकी सामान्य विशेषताएँ
  • डी.सी. मोटर की गति नियंत्रण विधियाँ
  • एकल-चरण और तीन चरण ट्रांसफार्मर
  • ट्रांसफार्मर के समतुल्य सर्किट, फेजर आरेख, हानियाँ, विनियमन और दक्षता
  • तीन चरण और एकल चरण प्रेरण मोटर
  • समतुल्य सर्किट
  • स्टार्टर
  • तीन चरण प्रेरण मोटर की गति नियंत्रण विधियाँ तुल्यकालिक मोटर और अल्टरनेटर
  • डी.सी. और ए.सी. नेटवर्क का स्थिर अवस्था विश्लेषण
  • नेटवर्क प्रमेय
  • लाप्लास रूपांतरण
  • क्षणिक प्रतिक्रिया
  • नेटवर्क फंक्शन
  • एबीसीडी पैरामीटर
  • जेड-पैरामीटर
  • वाई-पैरामीटर
  • एच-पैरामीटर
  • नेटवर्क संश्लेषण
  • तीन-चरण नेटवर्क
  • ओपन और क्लोज लूप सिस्टम
  • डायनेमिक रैखिक सिस्टम का गणितीय मॉडलिंग
  • ट्रांसफर फंक्शन
  • ब्लॉक डायग्राम
  • सिग्नल फ्लो ग्राफ
  • समय प्रतिक्रिया विश्लेषण
  • नियंत्रण प्रणालियों की स्थिरता
  • क्षतिपूर्ति नेटवर्क
  • स्टेट वैरिएबल विश्लेषण
  • माप के बुनियादी तरीके
  • संकेत देने वाले उपकरण
  • वोल्टेज
  • करंट का मापन शक्ति
  • ऊर्जा, प्रतिरोध, प्रेरण, धारिता, आवृत्ति
  • समय और प्रवाह
  • करंट और संभावित उपकरण
  • ट्रांसफार्मर, ट्रांसड्यूसर
  • कैथोड रे ऑसिलोस्कोप और डिजिटल उपकरण
  • सेमीकंडक्टर डिवाइस और इलेक्ट्रॉनिक सर्किट ऑसिलेटर और फीडबैक का विश्लेषण
  • एम्पलीफायर
  • मॉड्यूलेशन और डिमॉड्यूलेशन सर्किट
  • वेव शेपिंग सर्किट और टाइम बेस
  • जनरेटर, मल्टी-वाइब्रेटर
  • बाइनरी सिस्टम
  • लॉजिक गेट
  • फ्लिप-फ्लॉप
  • रजिस्टर, काउंटर
  • कॉम्बिनेशनल और सीक्वेंशियल सर्किट
  • पावर जनरेटिंग प्लांट
  • ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम
  • लोड कर्व, टैरिफ, पावर सिस्टम स्थिरता के बुनियादी विचार
  • स्विंग समीकरण
  • समान क्षेत्र मानदंड
  • ग्रिड सबस्टेशन
  • अर्थिंग, पावर सिस्टम सुरक्षा
  • रिले, सर्किट ब्रेकर
  • सममित और गैर-सममित दोष विश्लेषण
  • वोल्टेज और आवृत्ति नियंत्रण
  • एसी से डीसी और डीसी से एसी नियंत्रित रेक्टिफायर में रूपांतरण
  • ड्राइव और ट्रैक्शन सिस्टम के लिए गति नियंत्रण तकनीक
  • विद्युत तापन
  • वेल्डिंग और रोशनी
  • 8085/8086 माइक्रोप्रोसेसर का परिचय
  • कंप्यूटर आर्किटेक्चर
  • C/C++, JAVA और MATLAB प्रोग्रामिंग इत्यादि

MECHANICAL ENGINEERING

1 Engineering Thermodynamics 

  • ऊष्मप्रवैगिकी के नियम
  • गैस पावर चक्र
  • डीजल, ओटो, दोहरी दहन, ब्रेटन, जूल चक्र
  • स्टर्लिंग और एरिक्सन चक्र
  • वाष्प पावर चक्र
  • थर्मल दक्षता और कार्य अनुपात
  • प्रशीतन चक्र/प्रक्रियाएँ
  • ब्रेटन वायु प्रशीतन चक्र
  • सरल वाष्प संपीड़न चक्र
  • वाष्प अवशोषण प्रणाली
  • कंप्रेसर – परिचय और अनुप्रयोग
  • वर्गीकरण
  • एकल चरण और बहु-चरण कंप्रेसर का निर्माण
  • एकल चरण और बहु-चरण में किया गया कार्य इत्यादि

2 Manufacturing Technology

  • शीट मेटल का प्रेस कार्य
  • प्रेस और संचालन के प्रकार
  • डाई सामग्री
  • डाई सेट का निर्माण विवरण
  • मशीन टूल्स और संचालन
  • कटिंग टूल्स और सामग्री
  • सिंगल पॉइंट टूल
  • कटिंग स्पीड
  • फीड और कट की गहराई
  • मेटल कटिंग
  • ऑर्थोगोनल कटिंग
  • वेग संबंध, बल और शक्ति
  • टूल लाइफ
  • मशीनिंग का अर्थशास्त्र
  • कैपस्टन और बुर्ज लेथ्स
  • बोरिंग और ब्रोचिंग मशीन
  • इंडेक्सिंग हेड – मिलिंग ऑपरेशन
  • पीसने वाली मशीनें और संचालन
  • पीसने वाले पहिए
  • कटिंग फ्लूइड्स
  • एनसी और सीएनसी मशीनों का परिचय
  • एफएमएस
  • फाउंड्री तकनीक
  • वेल्डिंग तकनीक
  • मेट्रोलॉजी – आयामी और ज्यामितीय सटीकता मानकीकरण, सीमाएँ, फिट और सहनशीलता
  • गेज का डिजाइन इत्यादि

3 Fluid Mechanics & Machines

  • द्रव यांत्रिकी की मूल बातें
  • उत्प्लावन बल
  • तैरते और डूबे हुए पिंडों की स्थिरता
  • द्रव प्रवाह की गतिकी
  • द्रव प्रवाह की गतिशीलता
  • आयामी विश्लेषण और गतिशील समानता
  • चिपचिपा प्रवाह
  • अशांत प्रवाह
  • सीमा परतों की अवधारणा
  • पाइप प्रवाह का विश्लेषण
  • फ्री जेट का प्रभाव
  • समजातीय इकाइयाँ
  • विशिष्ट गति
  • टर्बोमशीन का सिद्धांत, दक्षताएँ
  • वर्गीकरण के तरीके, प्रतिक्रिया
  • आवेग और मिश्रित प्रवाह टर्बाइन, उनकी दक्षताएँ विशेषताएँ और शासन के सिद्धांत
  • ड्राफ्ट ट्यूब
  • कैविटेशन
  • पानी हथौड़ा और सर्ज टैंक
  • केन्द्रापसारक और प्रत्यागामी पंप
  • वायु वाहिकाएँ, इन पंपों की परिचालन विशेषताएँ। विविध मशीनें – हाइड्रोलिक संचायक
  • हाइड्रोलिक प्रेस
  • लिफ्ट, रैम, युग्मन और टॉर्क कनवर्टर इत्यादि।

4 Kinematics of Machines

  • लिंक और जोड़े
  • किनेमेटिक्स चेन
  • तंत्र और मशीनें
  • व्युत्क्रम
  • निरपेक्ष और सापेक्ष गति
  • तात्कालिक केंद्र
  • त्वरण विश्लेषण
  • कैम प्रोफाइल और विभिन्न प्रकार के अनुयायी
  • निर्दिष्ट आकृति वाले कैम
  • गियरिंग के मौलिक नियम
  • गियर के प्रकार, गियर ट्रेन, बेल्ट, रस्सी और चेन ड्राइव
  • पावर ट्रांसमिशन की दक्षता

5 Dynamics of Machines

  • मुक्त शरीर की अवधारणा और उसका संतुलन
  • स्थैतिक और गतिशील बल विश्लेषण
  • ऊर्जा और गति का उतार-चढ़ाव
  • फ्लाई व्हील और गवर्नर
  • घूर्णन द्रव्यमान का संतुलन
  • पावर स्क्रू – प्लेट और शंकु क्लच
  • बैंड और ब्लॉक ब्रेक
  • जाइरोस्कोपिक क्रिया और जाइरोस्कोपिक टॉर्क, घर्षण

6 Industrial Engineering

  • औद्योगिक इंजीनियरिंग और उत्पादकता का परिचय
  • प्रबंधन के कार्य
  • संगठनात्मक संरचना
  • वित्तीय प्रबंधन
  • विपणन प्रबंधन
  • कार्मिक प्रबंधन
  • मजदूरी, प्रोत्साहन और भुगतान प्रणाली
  • श्रम संबंध और कानून
  • लागत और लागत नियंत्रण
  • मूल्यह्रास, बजट और बजटीय नियंत्रण
  • पूर्वानुमान के प्रकार
  • सुविधाओं का स्थान और लेआउट योजना
  • शेड्यूलिंग, रूटिंग, अनुक्रमण
  • समग्र उत्पादन योजना, क्षमता योजना
  • इन्वेंट्री नियंत्रण
  • सामग्री आवश्यकता योजना
  • विनिर्माण संसाधन योजना
  • उद्यम संसाधन योजना
  • कार्य अध्ययन – विधि अध्ययन, समय अध्ययन, कार्य मापन और डिजाइन
  • औद्योगिक डिजाइन में एर्गोनोमिक पहलू
  • औद्योगिक सुरक्षा
  • कार्य और नौकरी डिजाइन
  • नौकरी मूल्यांकन और योग्यता रेटिंग
  • सीपीएम और पीईआरटी
  • जेआईटी
  • आपूर्ति श्रृंखला
  • समूह प्रौद्योगिकी
  • कंप्यूटर सहायता प्राप्त प्रक्रिया योजना

7 Mechanics of Solid

  • तनाव और विकृति की अवधारणाएँ और विश्लेषण
  • यांत्रिक गुण
  • तन्य और भंगुर सामग्री
  • तनाव की एक-अक्षीय स्थिति में सदस्य
  • तनावों का परिवर्तन
  • सदस्य अक्षीय-सममित
  • मरोड़ और लचीले भार के अधीन
  • बीम में विक्षेपण
  • सदस्य संयुक्त भार के अधीन
  • स्तंभों की लोचदार स्थिरता
  • उत्केंद्रित लोडिंग

8 Machine Design

  • ताकत, तनाव एकाग्रता के लिए डिजाइन
  • विभिन्न डिजाइन विचारों का परिचय – ताकत, कठोरता, वजन, लागत, सुरक्षा का कारक, स्थान आदि
  • थकान पर विचार
  • डिजाइन
  • वेल्डेड जोड़ों, रिवेटेड जोड़, पेंचदार जोड़ों, हेलिकल
  • लीफ स्प्रिंग्स, शाफ्ट, कपलिंग, ब्रेक
  • क्लच का डिजाइन
  • मशीन सदस्यों का डिजाइन जो बोल्ट और शाफ्ट जैसे संयुक्त स्थिर और वैकल्पिक तनावों के अधीन हैं
  • क्रेन हुक, क्रैंकशाफ्ट
  • कैमशाफ्ट और कनेक्टिंग रॉड
  • गियर टूथ
  • स्लाइडिंग और जर्नल बीयरिंग जैसे घुमावदार सदस्य
  • पहनने और गतिशील भार पर विचार
  • फ्लाई-व्हील और रोटरी उपकरणों का डिजाइन

9 Automobile Engineering

  • ट्रांसमिशन सिस्टम
  • स्टीयरिंग सिस्टम
  • सस्पेंशन सिस्टम, टायर, स्प्रिंग और शॉक एब्जॉर्बर
  • ब्रेक और उनके एक्चुएशन
  • इग्निशन सिस्टम
  • ऑटोमोटिव प्रदूषण और इसकी नियंत्रण रणनीतियाँ कानूनी पहलू

10 Turbo Machines

  • गैस टर्बाइन
  • चक्र, अंतर शीतलन
  • पुनः तापन
  • कंपाउंडिंग
  • आवेग और प्रतिक्रिया टर्बाइन
  • व्यावहारिक गैस टर्बाइन चक्रों का प्रदर्शन
  • कंप्रेसर और टर्बाइन दक्षताएँ
  • हीट एक्सचेंजर सरल चक्र
  • श्रृंखला और समानांतर प्रवाह चक्र
  • केन्द्रापसारक और अक्षीय प्रवाह कंप्रेसर
  • स्टीम टर्बाइन, स्टीम नोजल
  • वेग आरेख, मुख्य ब्लेड आयाम
  • थ्रस्ट, सैद्धांतिक शक्ति और टॉर्क
  • स्टीम टर्बाइन की विशेष निर्माण संबंधी विशेषताएँ
  • कंडेनसर
  • कंडेनसर का प्रदर्शन
  • वैक्यूम दक्षता

10 Heat Transfer

  • ऊष्मा स्थानांतरण प्रक्रियाएँ
  • ठोस, तरल और गैसों की ऊष्मीय चालकता
  • सीमा स्थितियाँ
  • एक आयामी ऊष्मा चालन
  • इन्सुलेशन की महत्वपूर्ण मोटाई
  • पंख, संवहन, उपयुक्त गैर-आयामी संख्याएँ
  • सपाट प्लेट पर प्रवाह
  • मुक्त और मजबूर संवहन
  • हीट एक्सचेंजर्स
  • विभिन्न प्रकार के हीट एक्सचेंजर्स
  • अंकगणितीय और लघुगणक औसत
  • तापमान अंतर, समानांतर
  • काउंटर और क्रॉस फ्लो प्रकार के हीट एक्सचेंजर के लिए हीट ट्रांसफर गुणांक
  • हीट एक्सचेंजर की प्रभावशीलता
  • थर्मल विकिरण
  • किरचॉफ का नियम
  • विकिरण तीव्रता –
  • दो काले निकायों के बीच
  • ग्रे निकायों के बीच हीट एक्सचेंज

11 Internal Combustion Engines

  • संचालन के आदर्श और वास्तविक चक्र
  • ईंधन, दहन एसआई और सीआई इंजन
  • कार्बोरेटर और एसआई इंजन के लिए ईंधन इंजेक्शन प्रणाली
  • डीजल इंजन के लिए ईंधन इंजेक्शन प्रणाली
  • स्नेहन प्रणाली
  • शीतलन प्रणाली
  • सुपरचार्जिंग, स्केवेंजिंग, इंजन प्रदर्शन
  • परीक्षण और निकास उत्सर्जन विशेषताएँ
  • निकास प्रदूषण
  • विशेष इंजन
  • दो स्ट्रोक और चार स्ट्रोक इंजन का कंप्यूटर सिमुलेशन
  • असामान्य दहन
  • नॉकिंग और प्री-इग्निशन

12 Refrigeration & Air-conditioning

  • एयर रेफ्रिजरेशन और हीटिंग सिस्टम
  • एयर-क्राफ्ट एयर कंडीशनिंग सिस्टम
  • हीट पंप चक्र
  • सीओपी
  • वाष्प संपीड़न प्रशीतन
  • सरल चक्र
  • वाष्प संपीड़न चक्र के प्रदर्शन को प्रभावित करने वाले कारक
  • वास्तविक वाष्प संपीड़न चक्र
  • विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए रेफ्रिजरेंट की उपयुक्तता
  • वाष्प अवशोषण प्रशीतन प्रणाली
  • साइक्रोमेट्री और साइक्रोमेट्रिक गुण
  • संबंध, चार्ट और उपयोग
  • वाष्पीकरण शीतलन
  • एयर वॉशर और एयर क्लीनर
  • मानव आराम, आराम को प्रभावित करने वाले कारक। सौर विकिरण
  • सौर विकिरण का वितरण
  • इमारतों का निष्क्रिय हीटिंग और कूलिंग।
  • डक्टिंग सिस्टम
  • आरामदायक एयर-कंडीशनिंग

13 Power Plant Engineering

  • भाप बिजली संयंत्र
  • लेआउट और साइट चयन
  • ईंधन भंडारण और हैंडलिंग
  • कूलिंग टावर
  • डीजल और गैस टरबाइन बिजली संयंत्र
  • सामान्य लेआउट
  • तत्व, उपयोग के क्षेत्र, भाप बिजली संयंत्रों के साथ तुलना
  • परमाणु ऊर्जा संयंत्र
  • परमाणु सामग्री
  • अपशिष्ट निपटान
  • ईंधन, शीतलक
  • मॉडरेटिंग और परावर्तक सामग्री
  • क्लैडिंग सामग्री, परमाणु अपशिष्ट का निपटान
  • परमाणु रिएक्टर
  • परमाणु ऊर्जा संयंत्रों का स्थान
  • थर्मल संयंत्रों के साथ परमाणु संयंत्रों की तुलना
  • संवर्धन, सुरक्षा और नियंत्रण
  • हाइड्रो-इलेक्ट्रिक पावर प्लांट
  • पावर प्लांट अर्थशास्त्र
  • बिजली संयंत्रों का प्रदर्शन और परिचालन विशेषताएँ
  • संयुक्त चक्र संयंत्र
  • सह-उत्पादन और त्रि-उत्पादन
  • पीक लोड और बेस लोड पावर प्लांट

14 Product Design

  • आधुनिक डिजाइन के सिद्धांत
    डिजाइन में मानवीय कारक और लागू एर्गोनॉमिक्स
  • उत्पाद डिजाइन विधियाँ
  • उत्पाद डिजाइन और डिजाइन संसाधनों में कानूनी मुद्दे

15 Operations Research

  • OR का इतिहास
  • OR की सामान्य कार्यप्रणाली
  • रैखिक अनुकूलन मॉडल
  • सिंप्लेक्स एल्गोरिदम
  • द्वैत, दोहरी रैखिक प्रोग्रामिंग
  • संवेदनशीलता, पूर्णांक प्रोग्रामिंग,
  • असाइनमेंट मॉडल
  • परिवहन समस्याएँ
  • ट्रांसशिपमेंट मॉडल
  • खेलों का सिद्धांत
  • कतार सिद्धांत
  • औद्योगिक समस्याओं के लिए अनुप्रयोग
  • नमूनाकरण विधि

16 Vibrations

  • कंपन के मूल सिद्धांत
  • मुक्त कंपन
  • मजबूर कंपन
  • स्वतंत्रता की एकल डिग्री
  • प्राकृतिक आवृत्ति
  • ऊर्जा के संरक्षण का सिद्धांत
  • आभासी कार्य के सिद्धांत
  • डंपिंग, मजबूर कंपन
  • यांत्रिक प्रतिबाधा
  • महत्वपूर्ण गति
  • कंपन अलगाव
  • शाफ्ट का चक्कर
  • दो डिग्री स्वतंत्रता प्रणाली

INFORMATION TECHNOLOGY (I.T.)

1 Computer Organization & Architecture

  • डिजिटल लॉजिक फैमिली
  • लॉजिक गेट्स
  • लॉजिक फ़ंक्शन
  • अनुक्रमिक और संयोजन
  • लॉजिक सर्किट का डिजाइन
  • संख्या प्रणाली और डेटा प्रतिनिधित्व
  • सीपीयू डिज़ाइन- एएलयू और कंट्रोल यूनिट का डिजाइन
  • मेमोरी संगठन
  • डीएमए
  • आई/ओ संगठन

2 Discrete Mathematics

  • सेट और उपसमुच्चय के मूल सिद्धांत
  • प्रस्तावना और विधेय तर्क
  • संबंध और फंक्शन
  • क्रमचय और संयोजन
  • पेड़ और रेखांकन

3 Programming and Data Structures

  • सी में प्रोग्रामिंग- ऐरे, फंक्शन
  • रिकर्सन, यूनियन, स्ट्रक्चर, फाइल
  • पैरामीटर पासिंग
  • डेटा संरचना – स्टैक, कतार
  • लिंक्ड सूची
  • हीप सॉर्ट
  • बाइनरी ट्री

4 Operating System

  • प्रक्रियाएँ
  • थ्रेड्स, अंतर प्रक्रिया संचार
  • समवर्तीता
  • सिंक्रनाइज़ेशन
  • डेडलॉक
  • सीपीयू शेड्यूलिंग
  • मेमोरी प्रबंधन और वर्चुअल मेमोरी
  • फाइल सिस्टम
  • I/O सिस्टम
  • सुरक्षा और सुरक्षा

5 Computer Networks

  • डेटा संचार मॉडल
  • नेटवर्किंग हार्डवेयर
  • डेटा ट्रांसमिशन – एनालॉग और डिजिटल
  • मॉड्यूलेशन
  • मल्टीप्लेक्सिंग
  • आईएसओ/ओएसआई नेटवर्क मॉडल
  • ओएसआई मॉडल की प्रत्येक परत की वास्तुकला और कार्य
  • वायर्ड
  • वायरलेस ट्रांसमिशन मीडिया
  • लैन, मैन, वैन, रूटिंग प्रोटोकॉल
  • नेटवर्क टेक्नोलॉजीज
  • एटीएम, फ्रेम रिले,
  • डीएसएल, आईएसडीएन

6 Database Management System

  • बुनियादी डीबीएमएस शब्दावली
  • डेटाबेस सिस्टम बनाम फाइल सिस्टम
  • कुंजियाँ
  • इकाई रिलेशनशिप मॉडल
  • रिलेशनल मॉडल
  • एसक्यूएल क्वेरी प्रोसेसिंग और ऑप्टिमाइज़ेशन
  • लेनदेन प्रसंस्करण
  • लॉकिंग तकनीक
  • डेटाबेस रिकवरी और सुरक्षा
  • वितरित डेटाबेस सिस्टम आदि

7 Network Management & Information Security

  • नेटवर्क प्रबंधन
  • मानक
  • कार्य
  • SNMPv1 प्रोटोकॉल
  • क्रिप्टोग्राफी
  • तकनीक और एन्क्रिप्शन एल्गोरिदम
  • DES और RSA
  • नेटवर्क हमले
  • IPSec
  • नेटवर्क स्कैनिंग
  • वेब ब्राउज़र और सर्वर की सुरक्षा
  • फ़ायरवॉल और घुसपैठ
  • पहचान प्रणाली

8 Software Engineering

  • सॉफ्टवेयर विकास प्रतिमान और मॉडल
  • सूचना एकत्रीकरण
  • सॉफ्टवेयर आवश्यकता विनिर्देश
  • सॉफ्टवेयर प्रक्रिया और डिजाइन
  • मॉड्यूलर डिजाइन
  • प्रक्रिया बनाम
  • डेटा उन्मुख डिजाइन
  • सॉफ्टवेयर परीक्षण
  • कार्यात्मक और संरचनात्मक
  • परीक्षण उपकरण
  • सॉफ्टवेयर रखरखाव
  • सॉफ्टवेयर गुणवत्ता आश्वासन
  • ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड की अवधारणा
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग

9 Data Warehousing & Mining

  • डेटा वेयरहाउसिंग
  • परिचय
  • आर्किटेक्चर
  • कार्यान्वयन
  • ओएलएपी
  • डेटा क्लीनिंग
  • डेटा रिडक्शन
  • डेटा एकीकरण और परिवर्तन
  • डेटा संपीड़न
  • डेटा माइनिंग
  • डेटा माइनिंग अवधारणाएँ
  • डेटा माइनिंग प्राइमिटिव्स
  • डेटा की आर्किटेक्चर
  • माइनिंग सिस्टम
  • डेटा माइनिंग तकनीक
  • माइनिंग क्लास तुलना
  • माइनिंग वर्णनात्मक सांख्यिकीय उपाय
  • एसोसिएटिव नियम माइनिंग
  • एप्रिओरी एल्गोरिथम
  • वर्गीकरण और भविष्यवाणी
  • WWW का खनन

10 Web Design and Development

  • इंटरनेट का परिचय
  • WWW, वेब ब्राउजर
  • पोर्टेबिलिटी के लिए स्क्रिप्टिंग
  • क्लाइंट बनाम सर्वर
  • साइड वेब डेवलपमेंट
  • HTML, DHTML, XHTML
  • जावा स्क्रिप्ट
  • PHP का परिचय

11 Emerging Technologies in the field of IT

  • ई-कॉमर्स
  • मल्टीमीडिया
  • विशेषज्ञ प्रणालियाँ
  • मशीन लर्निंग तकनीक
  • जेनेटिक एल्गोरिदम
  • बीपी एल्गोरिदम और FG लॉजिक
  • साइबर अपराध और साइबर कानून की अवधारणा

Electronics & Communication Engineering

1 Electronic Devices

  • अर्धचालक उपकरण
  • आंतरिक, बाह्य अर्धचालक और उनके गुण
  • पीन जंक्शन डायोड
  • टनल डायोड
  • BJT, JFET, MOS, MOSFET, LED
  • PIN और एवलांच फोटो डायोड
  • LASER और MASER की मूल बातें
  • VLSI तकनीक
  • एकीकृत सर्किट निर्माण प्रक्रिया
  • ऑक्सीकरण, प्रसार, आयन आरोपण
  • फोटोलिथोग्राफी, CMOS प्रक्रिया
  • पावर स्विचिंग डिवाइस
  • SCR, GTO, पावर MOSFET
  • ऑप्टोइलेक्ट्रॉनिक्स की मूल बातें

2 Analog Circuits

  • डायोड, BJTs,
  • MOSFETs और CMOS के छोटे सिग्नल समतुल्य सर्किट
    सरल डायोड सर्किट
  • क्लिपिंग, क्लैम्पिंग, रेक्टिफायर
  • ट्रांजिस्टर
  • FET एम्पलीफायरों की बायसिंग
  • बायस स्थिरता
  • एम्पलीफायर
  • सिंगल-और मल्टी-स्टेज
  • अंतर और परिचालन
  • फीडबैक और पावर
  • एम्पलीफायरों की आवृत्ति प्रतिक्रिया
  • सरल ऑप-एम्प सर्किट
  • फिल्टर साइनसॉइडल ऑसिलेटर
  • दोलन के लिए मानदंड
  • सिंगल-ट्रांजिस्टर और ऑप-एम्प कॉन्फ़िगरेशन
  • फंक्शन जनरेटर और वेव-शेपिंग सर्किट
  • 555 टाइमर
  • पावर सप्लाई

3 Digital Circuits

  • बूलियन बीजगणित
  • बूलियन फंक्शन का न्यूनतमीकरण
  • लॉजिक गेट
  • डिजिटल आईसी परिवार
  • डीटीएल, टीटीएल, ईसीएल, एमओएस, सीएमओएस संयोजन सर्किट-
  • अंकगणितीय सर्किट, कोड कन्वर्टर्स
  • मल्टीप्लेक्सर्स, डिकोडर्स,
  • प्रोम और पीएलए
  • अनुक्रमिक सर्किट-
  • लैच और फ्लिप-फ्लॉप
  • काउंटर और शिफ्ट-रजिस्टर
  • सैंपल और होल्ड सर्किट
  • एडीसी, डीएसी
  • सेमीकंडक्टर मेमोरी
  • माइक्रोप्रोसेसर (8085)
  • आर्किटेक्चर
  • प्रोग्रामिंग, मेमोरी और I/O इंटरफेसिंग

4 Electronic Measurement and Instrumentation

  • बुनियादी अवधारणाएँ
  • मानक और त्रुटि विश्लेषण
  • बुनियादी विद्युत मात्राओं और मापदंडों का मापन
  • इलेक्ट्रॉनिक माप उपकरण और उनके कार्य करने के सिद्धांत
  • एनालॉग और डिजिटल माप
  • तुलना, विशेषताएँ, अनुप्रयोग
  • ट्रांसड्यूसर, तापमान, दबाव, आर्द्रता
  • गैर विद्युत मात्राओं का इलेक्ट्रॉनिक माप
  • औद्योगिक उपयोग के लिए टेलीमेट्री की मूल बातें

5 Networks

  • नेटवर्क ग्राफ
  • ग्राफ से जुड़े मैट्रिसेस –
  • घटना, मौलिक कट सेट और मौलिक सर्किट मैट्रिसेस
  • समाधान विधियाँ –
  • नोडल और मेश विश्लेषण
  • नेटवर्क प्रमेय-
  • सुपरपोजिशन, थेवेनिन और नॉर्टन प्रमेय
  • अधिकतम शक्ति हस्तांतरण प्रमेय
  • वाई-डेल्टा परिवर्तन
  • फेज़र्स का उपयोग करके स्थिर अवस्था साइनसोइडल विश्लेषण
  • रैखिक स्थिर गुणांक अंतर समीकरण
  • सरल RLC सर्किट का समय डोमेन विश्लेषण
  • लैपलेस ट्रांसफॉर्म का उपयोग करके नेटवर्क समीकरणों का समाधान
  • RLC सर्किट का आवृत्ति डोमेन विश्लेषण।
  • 2-पोर्ट नेटवर्क पैरामीटर
  • ड्राइविंग पॉइंट और ट्रांसफर फंक्शन
  • नेटवर्क के लिए स्टेट समीकरण

6 Electromagnetics

  • वेक्टर कैलकुलस के तत्व-
  • गॉस और स्टोक्स के प्रमेय
  • मैक्सवेल के समीकरण
  • तरंग समीकरण, पॉइंटिंग वेक्टर
  • समतल तरंगें
  • विभिन्न माध्यमों से प्रसार
  • परावर्तन और अपवर्तन
  • चरण और समूह वेग
  • त्वचा की गहराई
  • संचरण रेखाएँ
  • विशेषता प्रतिबाधा
  • प्रतिबाधा परिवर्तन
  • स्मिथ चार्ट
  • प्रतिबाधा मिलान
  • एस पैरामीटर, पल्स उत्तेजना
  • वेवगाइड
  • आयताकार वेवगाइड में मोड
  • सीमा स्थितियाँ
  • कट-ऑफ आवृत्तियाँ
  • डाइइलेक्ट्रिक वेवगाइड और ऑप्टिकल फाइबर में प्रसार की मूल बातें
  • इसका फैलाव और क्षीणन विशेषताएँ
  • एंटेना की मूल बातें
  • डिपोल एंटेना
  • विकिरण पैटर्न
  • एंटीना लाभ

7 Signals and Systems

  • लैपलेस ट्रांसफॉर्म की परिभाषाएँ और गुण
  • निरंतर-समय और असतत-समय फूरियर श्रृंखला
  • निरंतर-समय और असतत-समय फूरियर ट्रांसफॉर्म
  • डीएफटी और एफएफटी
  • जेड-ट्रांसफॉर्म
  • नमूनाकरण प्रमेय
  • रैखिक समय-अपरिवर्तनीय, एलटीआई
  • सिस्टम परिभाषाएँ और गुण
  • कार्य-कारण, स्थिरता, आवेग प्रतिक्रिया
  • संवलन, समानांतर और कैस्केड संरचना
  • आवृत्ति प्रतिक्रिया, समूह विलंब, चरण विलंब
  • एलटीआई सिस्टम के माध्यम से सिग्नल ट्रांसमिशन

8 Control Systems

  • बुनियादी नियंत्रण प्रणाली घटक
  • ब्लॉक आरेख विवरण
  • ओपन लूप और क्लोज्ड लूप फीडबैक
  • सिस्टम और इन प्रणालियों का स्थिरता विश्लेषण
  • सिग्नल फ्लो ग्राफ
  • सिस्टम के ट्रांसफर फंक्शन निर्धारित करने में उनका उपयोग
  • एलटीआई नियंत्रण प्रणालियों और आवृत्ति प्रतिक्रिया का क्षणिक और स्थिर अवस्था विश्लेषण
  • एलटीआई नियंत्रण प्रणाली विश्लेषण के लिए उपकरण और तकनीक
  • रूट लोकी, राउथ-हर्विट्ज़
  • मानदंड, बोड और निक्विस्ट प्लॉट
  • लीड और लैग मुआवजे के तत्व, आनुपातिक-इंटीग्रल-व्युत्पन्न, पीआईडी
  • पीडी, पीआई नियंत्रण प्रणाली के तत्व
  • एलटीआई नियंत्रण प्रणालियों के राज्य चर प्रतिनिधित्व और राज्य समीकरण का समाधान

9 Communications – I

  • यादृच्छिक संकेत और शोर
  • संभाव्यता, यादृच्छिक चर
  • संभाव्यता घनत्व फंक्शन
  • स्वत, सहसंबंध, शक्ति वर्णक्रमीय घनत्व
  • एनालॉग संचार प्रणाली
  • आयाम और कोण मॉड्यूलेशन
  • डिमॉड्यूलेशन सिस्टम
  • सुपरहेटरोडाइन रिसीवर – कम शोर स्थितियों के लिए आयाम मॉड्यूलेशन (एएम)
  • आवृत्ति मॉड्यूलेशन (एफएम) के लिए सिग्नल-टू-शोर अनुपात (एसएनआर) गणना

10 Communications – II

  • डिजिटल संचार प्रणाली
  • पल्स कोड मॉड्यूलेशन (पीसीएम)
  • अंतर पल्स कोड मॉड्यूलेशन (डीपीसीएम)
  • डिजिटल मॉड्यूलेशन योजनाएं –
  • आयाम, चरण
  • आवृत्ति शिफ्ट कुंजीयन योजनाएं –
  • एएसके, पीएसके, एफएसके
  • मिलान किए गए फिल्टर रिसीवर
  • बैंडविड्थ विचार और इन योजनाओं के लिए त्रुटि गणना की संभावना
  • सूचना सिद्धांत और कोडिंग के मूल सिद्धांत
  • टीडीएमए, एफडीएमए
  • सीडीएमए और जीएसएम की मूल बातें
  • सैटेलाइट संचार की मूल बातें।

COMPUTER SCIENCE

1 Digital Logic

  • संख्या प्रणालियाँ
  • प्रतिनिधित्व और कंप्यूटर अंकगणित –
  • स्थिर और फ्लोटिंग पॉइंट
  • तर्क कार्य
  • न्यूनीकरण
  • संयोजन और अनुक्रमिक सर्किट

2 Computer Organization and Architecture

  • रैम और रोम
  • माइक्रोप्रोसेसर आर्किटेक्चर (8085, 8086)
  • मशीन निर्देश
  • एड्रेसिंग मोड
  • एएलयू
  • सीपीयू
  • कंट्रोल यूनिट
  • मेमोरी इंटरफेस
  • 1/ओ इंटरफेस (इंटरप्ट और डीएमए मोड) माइक्रोकंट्रोलर
  • इंटरफेसिंग
  • निर्देश पाइपलाइनिंग
  • कैश और मुख्य मेमोरी
  • सेकेंडरी स्टोरेज

3 Programming

  • असेंबलर्स
  • कम्पाइलर्स और इंटरप्रिटर्स
  • सी में प्रोग्रामिंग –
  • फंक्शन्स, रिकर्सन
  • पैरामीटर पासिंग
  • स्कोप – ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग (सी++ और जावा)
  • ऑब्जेक्ट्स, क्लासेस
  • इनहेरिटेंस, पॉलीमॉर्फिज्म
  • डायनेमिक बाइंडिंग
  • एक्सेस मॉडिफायर्स

4 Data Structures and Algorithms

  • सारणी, स्टैक, कतार
  • लिंक्ड सूची
  • वृक्ष
  • बाइनरी सर्च वृक्ष
  • हीप्स, विश्लेषण
  • असिम्टोटिक संकेतन
  • स्थान और समय जटिलता की धारणाएं
  • सबसे खराब और औसत मामले का विश्लेषण
  • डिजाइन- लालची दृष्टिकोण, गतिशील प्रोग्रामिंग
  • विभाजित और जीत
  • वृक्ष और ग्राफ ट्रैवर्सल
  • जुड़े हुए घटक
  • फैले हुए वृक्ष
  • सबसे छोटे रास्ते

5 Operating System

  • प्रक्रियाएं, थ्रेड्स, अंतर-प्रक्रिया संचार
  • सिंक्रनाइज़ेशन
  • डेडलॉक, सीपीयू शेड्यूलिंग
  • मेमोरी प्रबंधन और वर्चुअल मेमोरी
  • आई/ओ सिस्टम
  • सुरक्षा और संरक्षण
  • विंडोज, लिनक्स
  • मोबाइल ओएस, एंड्रॉइड
  • आरटीओएस

6 Databases

  • ईआर-मॉडल
  • रिलेशनल मॉडल (रिलेशनल बीजगणित, टपल कैलकुलस)
  • डेटाबेस डिजाइन (अखंडता बाधाएं, सामान्य रूप), क्वेरी भाषाएं (एसक्यूएल)
  • लेनदेन और समवर्ती नियंत्रण
  • रिकवरी और विफलता

7 Information Systems and Software Engineering

  • प्रक्रिया और जीवन चक्र मॉडल
  • सूचना एकत्रण
  • आवश्यकता और व्यवहार्यता विश्लेषण
  • डेटा प्रवाह आरेख
  • यूएमएल, प्रक्रिया विनिर्देश
  • इनपुट/आउटपुट डिजाइन
  • परियोजना की योजना और प्रबंधन
  • डिजाइन, कोडिंग
  • परीक्षण, कार्यान्वयन
  • रखरखाव
  • एमआईएस और ईआरपी

8 Computer Networks

  • आईएसओ/ओएसआई 7 लेयर स्टैक
  • लैन टोपोलॉजीज और इंटरनेटवर्किंग
  • रूटिंग एल्गोरिदम
  • कंजेशन नियंत्रण
  • टीसीपी/यूडीपी और सॉकेट्स
  • आईपी (v4 और v6)
  • एप्लीकेशन लेयर प्रोटोकॉल
  • आईसीएमपी, डीएनएस,
  • एसएमटीपी, पीओपी
  • एफटीपी, एचटीटीपी
  • नेटवर्क और वेब सुरक्षा

9 Current Technologies

  • स्क्रिप्टिंग भाषाएं
  • HTML, XML
  • जावास्क्रिप्ट, PHP
  • मोबाइल कंप्यूटिंग, क्लाउड कंप्यूटिंग
  • वायरलेस संचार
  • डेटा माइनिंग और सूचना पुनर्प्राप्ति

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024 Download

RPSC ITI Vice Principal Syllabus PDFClick Here
ITI Vice Principal Apply NowClick Here
Official WebsiteClick Here
Telegram ChannelClick Here

RPSC ITI Vice Principal Syllabus 2024 – FAQ’s

राजस्थान आईटीआई वाइस प्रिंसिपल नया सिलेबस पीडीएफ 2024 डाउनलोड कैसे करें?

उम्मीदवार राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) की आधिकारिक वेबसाइट पर कैंडिडेट्स इन्फॉर्मेशन के अनुभाग में सिलेबस ऑप्शन का चुनाव करके Rajasthan ITI Vice Principal Syllabus PDF Download करने के साथ ही अन्य किसी भी भर्ती का सिलेबस भी डाउनलोड कर सकते हैं।

राजस्थान आईटीआई वाइस प्रिंसिपल एग्जाम 2024 में कब है?

Rajasthan ITI Vice Principal Exam 2024 को लेकर आयोग द्वारा फिलहाल परीक्षा की कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

I Am Abhimanyu Choudhary, I'm Full Time Content Creator. Currently I am a Blogger and Content Creator at geniusjankari.com website. I have 6+ Years Experience in Blogging And Content Creation in Various Fields Like Sarkari Jobs, Sarkari Result, Syllabus and Exam pattern, Govt Yojana Career News & Exam Updates etc.

Leave a Comment